मन की जीत

जब हमने नया जन्म पाया, तब केवल हमारी आत्माओं का नया जन्म हुआ, हम परमेश्वर के रूप में फिर सृजे गए, और परमेश्वर के जीवन और स्वभाव से भरपूर हो गए। हमारे मन और शरीरों का नया जन्म नहीं हुआ। परमेश्वर ने हमें अपने वचन और पवित्र आत्मा के द्वारा अपने मन या बुद्धि का नवीनीकरण करने और शरीर को क्रूस पर चढ़ाने की जिम्मेदारी सौंपी है। इस पुस्तक का लक्ष्य मन का नवीनीकरण करना है - क्या किया जाना चाहिए और उसके कैसे करना चाहिए।