परमेश्वर के उद्देश्यों को जन्म देना

जब परमेश्वर इस पृथ्वी पर अपने उद्देश्यों को पूरा करना चाहता है, तब कभी-कभी वह स्वर्गदूतों का प्रयोग करता है| परन्तु प्रायः वह मनुष्यों के द्वारा ऐसा करता है| इस पृथ्वी पर परमेश्वर के उद्देश्यों को आप और मेरे जैसे लोगों के द्वारा पूरा किया जाता है| आप जैसे-जैसे परमेश्वर के साथ चलते जाते हैं वैसे-वैसे आप उन उद्देश्यों और योजनाओं को खोजते जाएंगे जिन्हें वह आपके द्वारा इस पृथ्वी पर पूरा करना चाहता है| इनमे से कुच्छ महत्वपूर्ण हो सकते हैं-जैसे एक कुँवारी के द्वारा परमेश्वर के पुत्र को जन्म देना और कुछ बहुत छोटे-जैसे ग्रामीण क्षेत्र में एक नर्सरी स्कूल की स्थापन करना, जिसके विषय में कोई नहीं जानता है| तौभी ये सभी काम हैं जिन्हें परमेश्वर इस पृथ्वी पर करवाना चाहता है| इस पुस्तिका में पृथ्वी पर परमेश्वर के उद्देश्यों को पूरा करने के विषय में अध्ययन किया गया है| इसलिए अपने जीवन के द्वारा परमेश्वर के उद्देश्यों को पूरा करते हुए चलते जाएं !