ज्ञान, प्रकाश और सामर्थ का

पिता और पुत्र के साथ पवित्र आत्मा भी परमेश्वर है। और वह यहां पर पृथ्वी पर है- परमेश्वर के लोगों के जीवनों में और उनके द्वारा कार्य करता है। वह कई भिन्न तरीकों से खुद को अभिव्यक्त करता है और परमेश्वर के लोगों में और उनके द्वारा कार्य करता है, वह कई कार्यों को हासिल करने हेतु उन्हें योग्य बनाता है। इस पुस्तक में हमारा उद्देश्य आपको परमेश्वर के आत्मा के बुद्धि, प्रकाशन और सामर्थ के पहलूओं से परिचित कराना है।
परमेश्वर का आत्मा र विश्वासी में और उसके द्वारा कार्य करना चाहता है, हम में से हर एक की मदद करना चाहता है कि हम वह सबकुछ बनें जिसकी योजना परमेश्वर ने बनाई है, और उसे पूरा करें जिसकी योजना उसने तैयार की है। परंतु वह केवल उसी प्रमाण में कार्य कर सकता है और करेगा, जिसकी हम उसे अनुमति देंगे । हम आपको प्रोत्साहन देना चाहते हैं कि आप इच्छा रखेंगे और परमेश्वर के आत्मा को अनुमति देंगे कि वह आपमें और आपके द्वारा सामर्थ का आत्मा बने। ताकि संसार यह जानें कि यीशु ही सब का प्रभु है!