जड़ पर कुल्हाड़ा मारना

यद्यपि परमेश्वर के वचन की तुलना मीठास से भरे मधु से, प्रति दिन की रोटी से जिसका हम आनंद लेते हैं, ताज़गी लाने वाली वर्षा से, राह दिखाने वाले दीपक से की गई है, वह उस आग के समान भी है जो भूसे को जला देती है, चट्टान को टुकड़े टुकड़े करने करने वाले हथोड़े के समान और जीवन और आत्मा को आरपार छेदने वाली दोधारी तलवार के समान भी है। हमारे जीवन के उन क्षेत्रों पर जिन्हें शुद्धता पाने की ज़रूरत है, हथोड़े, आग और तलवार के समान वचन के संयुक्त प्रभाव का शुद्ध करने वाला परिणाम होना चाहिए! | हमारे जीवन में ऐसी कुछ बातें हो सकती हैं जो परमेश्वर को हमारे साथ कार्य करने से रोकती हैं। उन बातों को हमें दूर करना होगा। | मैं, ईष्र्या, घमंड और वासना कुछ नकारात्मक बातें हैं जो परमेश्वर को हमारे साथ कार्य करने से रोक सकती हैं। जब हम प्रभु को अनुमति देंगे कि वह जड पर कुल्हाड़ी रखे और हमारे जीवनों के उन क्षेत्रों में शुद्धिकरण का कार्य करे, तब हम न केवल परमेश्वर के लिए बल्कि एक दूसरे के लिए भी बेहतर लोग होंगे।